शनिवार, 20 फ़रवरी 2021

दीक्षांत समारोह:एक की उपाधि दूसरे काे दी, शपथ दिलवाना भी भूले, राज्यपाल ने मंच से ही लगाई फटकार, बाेलीं- अगली बार ऐसी गलती न हो


  • डॉ. बीआर आंबेडकर विवि में व्यवस्था बिगड़ी तो आनंदी बेन ने डीएवीवी से सीखने की दी नसीहत

डाॅ. बीआर आंबेडकर विवि में शुक्रवार को तीसरे दीक्षांत समाराेह में व्यवस्थाएं बिगड़ने से राज्यपाल आनंदीबेन पटेल गुस्सा हाे गईं। उन्हाेंने मंच से ही कुलपति प्राे. आशा शुक्ला काे फटकार लगाई। उन्हाेंने कहा कि आप देवी अहिल्या बाई विवि से जाकर सीखें कि कैसे दीक्षांत समाराेह हाेता है। मैं वहां 250 बच्चाें काे उपाधि देकर आ रही हूं। कोई गड़बड़ नहीं हुई। यहां 100 से भी कम बच्चाें काे उपाधि देने में ही बहुत सारी गड़बड़ियां हुई।

अगली बार ऐसी गलती नहीं हाेना चाहिए। समाराेह में विद्यार्थियों के नाम एकसाथ पुकारने और उनके एकसाथ पहुंचने से राज्यपाल के हाथों किसी विद्यार्थी की उपाधि किसी और विद्यार्थी को दिलवा दी गई। वहीं उपाधि लेने वाले विद्यार्थियों काे शपथ भी नहीं दिलवाई गई। विद्यार्थियों काे मंच पर पहुंचने के बाद भी उपाधि लेने के लिए इंतजार करना पड़ा। इसके चलते पहले राज्यपाल ने उपाधि वितरण रुकवाकर नाम व क्रम सही करने के लिए कहा। इसके बाद संबोधन के दौरान उन्होंने जमकर गुस्सा जताया। कार्यक्रम में पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर, धार सांसद छतरसिंह दरबार, इंदाैर सांसद शंकर ललवानी माैजूद रहे।

डिग्री के लिए इंतजार..
महू. मंच पर उपाधि लेने पहुंची छात्रा अपना नाम लिखी डिग्री नहीं मिलने से इस तरह इंतजार करती रही। इस पर राज्यपाल ने तत्काल डिग्री मंगाने का कहा।

कुलसचिव ने हाथ जोड़कर माफी मांगी
कुलसचिव डीके शर्मा के आभार जताने के दौरान राज्यपाल ने कहा कि डाटा भी बताइए तो कुलसचिव ने हाथ जोड़कर माफी मांगी।

बच्चों के फाइल गिराने से हुई गड़बड़
राज्यपाल को फलों की टोकरी देने आए छोटे बच्चों ने फाइल गिरा दी। इससे क्रम बदलने से गड़बड़ हो गई।
– प्रो. आशा शुक्ला, कुलपति, डाॅ. बीआर आंबेडकर विवि



Rea es:
SHARE THIS

Author:

Etiam at libero iaculis, mollis justo non, blandit augue. Vestibulum sit amet sodales est, a lacinia ex. Suspendisse vel enim sagittis, volutpat sem eget, condimentum sem.

0 coment rios:

Hi friends