Ticker

6/recent/ticker-posts

Ad Code

मां-बेटी व पिता की गोली मारकर हत्या, फायर में एक भी निशाना नहीं चूके कातिल

मां-बेटी व पिता की गोली मारकर हत्या, फायर में एक भी निशाना नहीं चूके कातिल

राजीव नगर में बुधवार रात करीब 9 बजे छाेटी दीवाली पर दाे युवकों ने एक परिवार के तीन सदस्याें मां-बेटी व पिता की गाेली मारकर हत्या कर दी। जिले में एक परिवार के खात्मे की यह पहली वारदात है। पुलिस ने आरोपियों का हुलिया पता कर लिया है। आराेपी जिस स्कूटर से भागे थे वह दीनदयाल नगर से बरामद किया गया है। मौके पर एक भी निशाना नहीं चूकने से पुलिस आरोपियों को पेशेवर मान रही है। फिलहाल पुलिस हत्या की थ्योरी में अफेयर और लेन-देन को अहम मान रही है। हत्याकांड के बारे में गुरुवार सुबह 8 बजे उस समय पता चला जब किरायेदार युवती अपनी स्कूटर की चाबी लेने पहली मंजिल पर गई। युवती चाबी मकान मालिक के पास ही रखती थी। युवती ने दिव्या सोलंकी (21) के साथ मां शारदा सोलंकी (45), पिता गोविंदराम सोलंकी (50) की लाश देखी तो चीख पड़ी। इस हत्याकांड का प्रत्यक्षदर्शी सामने रहने वाला पड़ोसी है जिसने बुधवार रात दो युवकों को मकान से उतरते देखा। उसने एक आरोपी के हाथ से पिस्टल गिरते भी देखी। युवक पैदल आए थे और मर्डर के बाद भागने के लिए किरायेदार युवती की स्कूटर स्टार्ट करने लगे। चाबी गलत निकली तो वे दोबारा ऊपर गए और सही चाबी लाए। आरोपी मौका-ए-वारदात पर पैदल आए थे। पड़ोसी ने बताया कि एक युवक मोटा व दूसरा दुबला था। दोनों ने मास्क पहनने के साथ ही ऊनी दास्ताने पहन रखे थे।

नर्सिंग की छात्रा थी दिव्या, मां शारदा बेचती थी अवैध शराब, पिता गोविंदराम सैलून में काम करता था

बिजली कंपनी में करती थी अस्थाई नौकरी

दिव्या सोलंकी - कई युवकों से मुलाकात रखने वाली दिव्या निजी कॉलेज से बीएससी नर्सिंग थर्ड इयर की छात्रा थी। कोरोना के कारण क्लास नहीं लगने से वह नेहरू नगर में रहने वाली शादीशुदा बड़ी बहन मोना के साथ बिजली कंपनी (अस्थाई नौकरी) में काम करने जाती थी। जिस किरायेदार युवती ने लाशें देखीं वह उसकी सहेली भी है।
गोविंदराम सोलंकी - 25 साल पहले शहर आकर प्रॉपर्टी ब्रोकर्स का काम किया। 22 साल से स्टेशन रोड स्थित गौरव परिहार के सैलून पर काम कर रहे थे। राजीव नगर में तीन मंजिला मकान, पहली मंजिल पर खुद रह रहे थे। ग्राउंड और तीसरी मंजिल पर पांच किराएदार रहते हैं। भतीजे गोपाल के अनुसार काका ने अक्टूबर में पैतृक गांव खोखरा की जमीन 25 लाख रुपए में बेची थी। कुल चार भाई, पहले और दूसरे नंबर के गांव में, जबकि तीसरे नंबर का गोविंदराम और सबसे छोटा राजू बुद्धेश्वर रोड पर रहता है।
शारदा सोलंकी - मूलत: गृहिणी थी। पुलिस के अनुसार घर से ही चोरी-छिपे शराब बेचती थी। पति सुबह 9 से रात 9 बजे तक सैलून की दुकान पर काम करने जाता था। मोहल्लेवासियों के अनुसार उसकी गैर-मौजूदगी में कई लोग लगातार आते-जाते रहते थे।

पहले मां, फिर बेटी और जाते हुए बाप को मारा
फॉरेंसिक जांच के मुताबिक घटना बुधवार रात 9:10 से 9:15 के दरम्यान की है। पुलिस को शंका है कि आरोपियों ने पहले कमरे में मां शारदा को लेटी हालत में बिस्तर पर सिर के ऊपर गोली मारी। इसके बाद पीछे वाले कमरे में बेटी दिव्या को आंख के नीचे गोली दागी। मुख्य दरवाजे पर जूते पहने गोविंदराम की लाश मिली जिसे दाहिने कान के नीचे गोली मारी। माना जा रहा है कि दोनों मर्डर के बाद आरोपियों ने भागते समय गोविंदराम को मारा। उनके पास में दूध की थैली मिली है।
घेराबंदी शुरू : पुलिस ने हुलिये के आधार पर घेराबंदी शुरू कर दी है। मकान में पांच किरायेदार रहते हैं लेकिन किसी को भी यह घटना पता नहीं चली। माना जा रहा है कि छोटी दीवाली के पटाखों में पिस्टल की आवाज दब गई। 2016 में भी दीवाली के ग्यारहवें दिन शहर में तिहरा हत्याकांड हुआ था।

इसलिए पुलिस को अफेयर और लेन-देन की शंका

हत्यारे जाने-पहचाने थे क्योंकि उन्हें मकान के कमरों के साथ स्कूटर की चाबी की जानकारी भी थी।
वारदात वाली जगह मृतकों व आरोपियों के बीच संघर्ष के निशान नहीं मिले।
गोविंदराम का रहन-सहन काफी अच्छा था। घर से महंगे मोबाइल और बाइक मिले हैं।
गोविंदराम ब्याज पर रुपए चलाता था, इससे हर तरह के लोगों के संपर्क में था।

संघर्ष के निशान नहीं मिले, जल्द करेंगे खुलासा

^हत्यारे पहचान वाले हो सकते हैं क्योंकि घटनास्थल पर संघर्ष होने के निशान नहीं मिले हैं। घर में बहुत लोगों का आना-जाना था। संभव है कि मां-बेटी के परिचित ने ही मर्डर किए हों। जल्द ही हत्याकांड का खुलासा कर देंगे। देर रात तक चली जांच में कई सुराग हाथ लगे हैं।
- गौरव तिवारी, पुलिस अधीक्षक

90 मीटर जाकर प्याऊ के पास रुका खोजी कुत्ता

पुलिस का खोजी कुत्ता मौके से करीब 90 मीटर दूर विनोबानगर रोड पर मंदिर के प्याऊ के पास जाकर रुक गया। पुलिस मान रही है कि आरोपी यहां पानी पीने या खून के छींटे साफ करने रुके होंगे। जानकारी मिलने पर पहले आईए थाना प्रभारी रेवलसिंह बर्डे पुलिस फोर्स लेकर पहुंचे। कुछ देर बाद एसपी गौरव तिवारी, एएसपी एसके पाटीदार, एफएसएल अधिकारी अतुल मित्तल और माणकचौक थाना प्रभारी अय्यूब खान भी आ गए थे।

भास्कर अपडेट रात 1 बजे
पाॅइंट मिला, दो वाहनों में पुलिस दल जावरा रवाना

दिन भर आरोपी युवकों की तलाश में जुटी पुलिस को रात 1 बजे पाइंट मिला । इस पर दो वाहनों से पुलिस दल जावरा के लिए रवाना हुआ है।
जांच में जुटे 56 कर्मी : पुलिस ने जांच में 10 थानेदार समेत 40 पुलिसकर्मी जांच में लगाए हैं। इसके अलावा एफएसएल अधिकारी, फॉरेंसिक अधिकारी आदि शामिल हैं। हत्या की जानकारी मिलते ही एसपी गौरव तिवारी मौके पर पहुंचे। मौका मुआयने के बाद औद्योगिक क्षेत्र थाने पहुंचे और हत्यारों का पता लगाने के लिए एएसपी, एफएसएल अधिकारी और थाना प्रभारियों के साथ मीटिंग की।

भास्कर रिकॉल : पहले कब-कब हुए ट्रिपल मर्डर
7 नवंबर 2016 -
राजीव नगर से महज 50 मीटर दूर जवाहर नगर मुक्तिधाम के सामने तीन युवकों की चाकू मारकर हत्या कर दी गई थी। यह घटना दीवाली के 11वें दिन हुई थी।
5 जून 2020 - रावटी के पास ग्राम नायन में जमीन विवाद में आरोपियों ने तलवार मारकर तीन युवकों की हत्या कर दी थी।




Mother-daughter and father shot dead, not a single target killed in fire



टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां